मुख्यमंत्री योगी ने कहा, दोषी जमातियों पर लगेगा रासुका


 


लखनऊ,  (वेबवार्ता)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद मामले में बड़ा फैसला लेते हुए शुक्रवार को दोषी जमातियो पर रासुका लगाने का भी आदेश किया है। उन्होंने कहा कि 'ये ना कानून को मानेंगे, ना व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दुश्मन हैं, जो इन्होंने महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ किया है, वह जघनय अपराध है, इन पर रासुकालगाया जा रहा है, हम इन्हें छोड़ेंगे नहींमुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे इंसेफसलाइटिस से लड़कर जीते, वैसे ही कोरोना से लड़कर जीतेंगे। यही नहीं हमें आगे की भी चुनौती की तैयारी रखनी है, ताकी इस तरह की किसी भी आपदा से हम अपने प्रदेश के लोगों को पूरी तरह सुरक्षित रख सकें, लैब और इंफ़्राटक्चर को खूब मज़बुत रखना है। मुख्यमंत्री आवास पर सं​बंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि तबलीगी जमात के लोगों की चिकित्सा एवं सुरक्षा में महिला स्वास्थ्यकर्मी और महिला पुलिसकर्मियों की ड्यूटी न लगायी जाय। कहा कि ऐसे स्थानों पर केवल पुरूष कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी जाय।उन्होंने यह भी कहा है कि इंदौर जैसी घटना यूपी में कहीं नहीं दिखनी चाहिए, इसके लिए क़ानूनन जो भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी हो वो करिए। कहा कि गाजियाबाद में जिन लोगों ने ये हरकत की, उस प्रवृत्ति के लोगों के साथ पूरी सख़्ती करो और उन्हें क़ानून का पालन कराना सिखाओ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कालीदास मार्ग स्थित आवास पर अधिकारियों से कहा कि लॉकडाउन का पालन कराने के दौरान प्रदेश में किसी भी स्थान पर पुलिस पर हमला करने वालों के ख़िलाफ़ एनएसए यानी कि रासुका के तहत कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने ग़ाज़ियाबाद की घटना में संलिप्त जमातियों पर कड़ी कार्रवाई का आदेश भी दिया है। गौरतलब है कि गुरुवार को गाजियाबाद के एक अस्पताल में ऐडमिट तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्ध पर लगातार अश्लीलता और बदसूलकी कर रहे थे। ये लोग नर्सों के सामने ही कपड़े उतार दे रहे थे।​​ जिसका गाजियाबाद का सीएमओ ने लिखित में यूपी पुलिस से​ शिकायत की है। अब छह लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। गुरुवार की देर रात गाजियाबाद जिला प्रशासन इन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है और इन्हे जेल के बैरक में ही बंद करने पर विचार चल रहा है। अस्पताल में स्टाफ के साथ अश्लील हरकतें करने, हंगामा करने और नियमों का उल्लंघन करने के मामले में 6 जमातियों के खिलाफ कोतवाली घंटाघर थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।


 


Popular posts