देवरिया में सोमवार की भोर बस के इंतेजार में यूपी,बिहार के यात्री दिखे परेशान डिपो, प्रशासन मौन





 


रिपोर्ट- आरिफ खान




देवरिया। एक तरफ योगी सरकार जहां कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए प्रदेश के रास्ते अपने घर को पैदल लौट रहे कामगार यात्रियों पर मेहरबान है। तो वहीं दूसरी ओर जिले जिम्मेदार इन यात्रियों पर कहीं कहीं बेपरवाह साबित हो रहे हैं। कुछ ऐसी ही तस्वीर उत्तर प्रदेश के देवरिया बस डिपो पर सोमवार की भोर देखने को मिला। जहां बिहार व यूपी के सैकड़ो यात्री दिल्ली व अन्य राज्यों से गोरखपुर होते हुए देवरिया डिपो पहुंचे थे। किन्तु यहां से उनके गंतव्य को जाने के लिए कोई बस का साधन नहीं मिला। जिससे मायूस होकर कुछ यात्री पैदल ही चलते बने, तो वहीं कुछ यात्री बस के इंतेजार में सड़क के किनारे सोते नजर आये। वहीं सुरक्षाकर्मियों की बात की जाए तो एक को छोड़कर कोई सुरक्षाकर्मी इर्द गिर्द तक नज़र नहीं आया। जिससे सड़क पर यात्री चहलकदमी करते नजर आये । इस दौरान सोशल डिटेनसिंग और लॉकडाउन का मखौल उड़ता नजर आया। इस लापरवाही से सरकार की मशीनरी पर सवालिया निशान है। इस सम्बंध में जब फोन से डिपो के एआरएम से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि सोमवार की रात ढाई बजे तक डिपो पर आये सभी यात्रियों को बस से उनके गंतव्य को भेजा गया है। जिनका देवरिया बार्डर खरोह में उनके मेडिकल चेकअप भी कराया गया है।



Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
नोएडा में 12 नए कोरोना पॉजिटिव केस, इनमें 3 साल का बच्‍चा और नर्स भी शामिल
Image
नायब तहसीलदार जेवर ने किया रन्हेरा के गेहूँ क्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण
Image
सरकार की 18 घंटे सप्लाई के दावे का उत्तरदायी कौन
Image
कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए लॉक डाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री एवं तस्करी पर रोक लगाने के उद्देश्य से आबकारी विभाग एवं पुलिस का संयुक्त प्रयास बड़े स्तर पर छापेमारी
Image