कोरोना कोविड 19 महामारी में देशभर में लॉकडाउन का दौर खेल प्रशिक्षकों और अंपायरों के लिए भी अच्छा नहीं रहा

। उनकी जीवनचर्या खेल टूर्नामेंट पर ही निर्भर हुआ करती थी। जो कि ढाई महीनों से पूरी तरह बंद हैं। वहीं लॉकडाउन होते ही खेल निदेशालय द्वारा उन की सेवाओं को समाप्त कर दिया गया। जबकि शासन के आदेश थे कि न तो किसी की सेवायें समाप्त की जाएंगी,ढाई महीने से सभी खेल की गतिविधिया बंद है ऐसे में खेल प्रशिक्षक आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे हैं। पिछले महीने खेल मंत्री किरेन रिजीजू जी ने लॉकडाउन 4.0 में सरकारी स्टेडियम खोलने के निर्देश दे दिए थे वही खेल जगत के प्रशिक्षक जो प्राइवेट अकादमी स्टेडियम के बाहर चला रहे है उनके लिए ये  कोरोना काल का समय बहुत ही दुखद है वो अपने परिवार की 2 वक्त की रोटी के लिए कर्ज लेकर खर्चा चला रहे है मेरा सरकार से यही निवेदन है कि जैसे सरकार ने  मॉल और धार्मिक स्थलों को अनुशासन के नियम पालन करते हुए खोलने की मंजूरी दी है वैसे ही सरकार खेल जगत को अनुशासन के साथ नियम पालन करते हुए मंजूरी दे खेल जगत के भीतर बच्चे व टीचर अनुशासन का कड़ाई से पालन करेंगे
आकाश रावल
जिला प्रभारी खेल प्रकोष्ट


Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
आप सब को आकाश रावल की तरफ़ से दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाएँ
Image
जिला चेयरमैन दानिश सैफी व शहर चेयरमैन मोहम्मद गुड्डू के नेतृत्व में पूर्व मुख्यमंत्री बरकतुल्ला खान साहब की पुण्यतिथि मनायी
Image
मुरादनगर पुलिस ने चेकिंग के दौरान चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर गैंग के छह बदमाशो को किया गिरफ्तार
Image
समस्त क्षेत्रवासियों को विजय शर्मा मानव अधिकार युवा संगठन की ओर से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं
Image