नोएडा-ग्रेटर नोएडा में खुले में थूकने पर 1000 रुपये तक फाइन

नोएडा, (वेबवार्ता)। नोएडा शहर में पान-मसाला और गुटखा खाकर थूकना अब महंगा पड़ेगा। अब कोई शहर मे सार्वजनिक स्थल पर थूकता मिला तो उस पर 500 रुपये फाइन किया जाएगा और ऐसा उसने दोबारा किया तो उस पर 1000 रुपये फाइन लगेगा। इस बाबत नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रितु महेश्वरी ने एक आदेश जारी  किया है। इसमें साफ कहा गया है कि सार्वजनिक जगहों पर थूकना कार्रवाई के दायरे में आएगा।


 


नोएडा अथॉरिटी के अधिकारियो ने साफ कहा है कि अगर नोएडा-ग्रेटर नोएड़ा कोई भी खुले में पान मसाला या पान थूकता पाया जाएगा तो उसपर 500 से 1000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। पहली बार 500 और दूसरी बार भी ऐसी गलता करता पकड़ा गया तो 1000 रुपये भरना पड़ेगा।नोएडा अथॉरिटी की सीईओ रितु माहेशवरी ने सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी करते हुए जुर्माना वसूलने के लिए अधिकृत अफसरों की सूची भी जारी की है।


 


यहां पर बता दें कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस कड़ी में मंगलवार को जिले में कोरोना के 13 नए मामले सामने आए हैं। इस तरह जिले में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 192 हो गई है। वहीं, आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, गौतमबुद्ध नगर में अब तक कोरोना के 109 मरीज 109 ठीक हो चुके हैं, जबकि 83लोगों को इलाज जिले के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।


 


गौरतलब है कि दिल्ली और एनसीआर के शहरों गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद, गुरुग्राम में शराब की दुकानों के साथ अन्य दुकानें भी खुलीं। वहीं, शराब खरीदने के दौरान एक बार फिर फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों के टूटने की बातें भी सामने आ रही हैं। उधर, दुकानों के खुलने से लोगों को आसानी होने लगी है, लेकिन फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों के टूटने से कोरोना संक्रमण के फैलने का भय भी सताने लगा है।


 


Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
नोएडा में 12 नए कोरोना पॉजिटिव केस, इनमें 3 साल का बच्‍चा और नर्स भी शामिल
Image
नायब तहसीलदार जेवर ने किया रन्हेरा के गेहूँ क्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण
Image
सरकार की 18 घंटे सप्लाई के दावे का उत्तरदायी कौन
Image
कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए लॉक डाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री एवं तस्करी पर रोक लगाने के उद्देश्य से आबकारी विभाग एवं पुलिस का संयुक्त प्रयास बड़े स्तर पर छापेमारी
Image