मनरेगा मजदूरों को घर बैठे मिलना चाहिए वेतन : गहलोत


जयपुर, (वेबवार्ता)। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने। कहा है कि लाकडाउन में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना( मनरेगा) के मजदूरों को घर बैठे वेतन मिलना चाहिए। गहलोत ने मीडिया से कहा कि केन्द्र सरकार ने उद्योगपतियों को लाकडाउन में श्रमिकों को घर बैठे तनखवाह देने की बात कही है, यह सही है। श्रमिकों की तरह मनरेगा के मजदूरों को भी घर बैठे तनख्वाह मिलनी चाहिए, क्योंकि लाकडाउन में काम बंद होने से लोग घर बैठे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में मनरेगा के काम में प्रगति हुई है और इसके तहत 12 लाख लोगों को रोजगार मिल रहा हैं और हमारा इसे 30 लाख तक पहुँचने का इरादा है। उन्होंने कहा कि राज्य में सभी लोग मिलकर कोरोना से लड़ रहे हैं। सरकार भी सतर्क एवं मुस्तैद हैं और ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज राज्य में प्रतिदिन दस हजार लोगों की जांचे की जाने लगी है और इसे 25 हजार तक बढ़ाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि अभी पता नहीं है कि कोरोना कब खत्म होगा। इसलिए सरकार ने पूरी तैयारी कर रखी है। उन्होंने कहा कि लाकडाउन के बाद भी मास्क लगाना लम्बे समय तक चलेगा।


 


 


Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
जिला चेयरमैन दानिश सैफी व शहर चेयरमैन मोहम्मद गुड्डू के नेतृत्व में पूर्व मुख्यमंत्री बरकतुल्ला खान साहब की पुण्यतिथि मनायी
Image
मुरादनगर पुलिस ने चेकिंग के दौरान चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर गैंग के छह बदमाशो को किया गिरफ्तार
Image
समस्त क्षेत्रवासियों को विजय शर्मा मानव अधिकार युवा संगठन की ओर से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
आप सब को आकाश रावल की तरफ़ से दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाएँ
Image