उपचार के दौरान सभी डॉक्टर उपचार किट का ही प्रयोग करें : एसडीएम

 


 


मोदीनगर,  (वेबवार्ता)। शहर में प्रशासन झोलाछाप, अवैध क्लीनिक व मेडिकल स्टोरों के खिलाफ भी  अभियान चलाने पर विचार कर रहा है। किसी मेडिकल स्टोर पर मियाद नक़ली दवा मिलती है तो संचालक को जेल भेजा जाएगा। शहर की सभी ग्रुप हाॅउसिंग सोसाइटीयों व पाॅश काॅलोनियों में अनिवार्य रूप से सुरक्षा गार्ड व सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था के आदेश भी दिये जा सकते है।


 


एसडीएम सौम्या पाण्डेय ने बताया कि सभी डॉक्टरों को हिदायत दी गई है कि वह उपचार किट का ही प्रयोग करें। थर्मामीटर से किसी की जांच नहीं होगी। आलाधिकारियों द्वारा सीएमओ को भी गुणवत्ता में सुधार के निर्देश दिए गए हैं। कई टीमें बनाई गई हैं, जो पांच-पांच गांवों का भौतिक सत्यापन कर यह देखेंगी कि स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच कर रही हैं या नहीं। जानकारी मिल रही है कि कस्बों में जर्राह व झोलाछाप दुकानें खोले बैठे हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई की जायेंगी। एसडीएम सौम्या पाण्डेय ने कहा कि लाॅकडाउन पार्ट-2 छूट को लेकर जिलास्तर से कोई फैसला नहीं लिया गया है। जैसे ही कोई छूट के लिए गाइड लाइन प्राप्त होगी। इसके अनुसार कार्य होगा।


Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
नोएडा में 12 नए कोरोना पॉजिटिव केस, इनमें 3 साल का बच्‍चा और नर्स भी शामिल
Image
नायब तहसीलदार जेवर ने किया रन्हेरा के गेहूँ क्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण
Image
सरकार की 18 घंटे सप्लाई के दावे का उत्तरदायी कौन
Image
कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए लॉक डाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री एवं तस्करी पर रोक लगाने के उद्देश्य से आबकारी विभाग एवं पुलिस का संयुक्त प्रयास बड़े स्तर पर छापेमारी
Image