मुख्यमंत्री ने 4.81 लाख श्रमिकों के भरण पोषण के लिए दी धनराशि


लखनऊ,  (वेबवार्ता)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने सरकारी आवास से नगर विकास विभाग द्वारा चिह्नित दैनिक कार्य करने वाले विभिन्न श्रेणी के 4,81,755 लाख श्रमिकों के भरण पोषण भत्ता के लिए 48,17,55,000 रुपए की धनराशि जारी किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अलग-अलग जनपदों के लाभार्थियों से बातचीत भी किया। यह रकम स्ट्रीट वेंडर, आटो चालक, रिक्शा चालक, ई-रिक्शा चालक और मंडी में काम करने वाले पल्लेदारों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से भेजी जा रही है। 4.81 लाख श्रमिकों को इस धनराषि से लाभ मिलेगा।


 


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, इससे पहले सरकार ने 35 लाख मजदूरों को भरण-पोषण भत्ते का भुगतान डीबीटी के माध्यम से सीधे अकाउंट में भेज चुकी है। 11 लाख से अधिक निर्माण श्रमिकों के बैंक खाते में एक हजार रुपए जा चुके हैं। उन्होंने कहा, मनरेगा मजदूरो का मानदेय बढ़ाकर भुगतान किया जा रहा है। प्रदेश में 1.65 करोड़ से ज्यादा अंत्योदय योजना, मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीत निर्माण श्रमिक एवं दिहाड़ी मजदूरों को एक माह का नि: शुल्क राशन भी मुहैया करवाया जा रहा है।


 


योगी ने कहा, प्रदेश में श्रम विभाग द्वारा  पंजीकृत 20.37 लाख श्रमिकों को भरण पोषण के रूप में एक हजार रुपए डीबीटी के माध्यम से उनके अकाउंट में भेजा जा रहा है। पूरे प्रदेश में एक अप्रैल से राशन वितरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 2.34 करोड़ किसानों को दो हजार रुपए प्रति माह आगामी तीन महीने तक देने की व्यवस्था सरकार ने की है। जनधन खाते में प्रति माह तीन महीने तक 500 रुपए दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि घर के बाहर बिल्कुल न निकलें। सोशल डिस्टेंस का पालन करें। साफ सफाई का ध्यान रखें। किसी विपरीत परिस्थितियों में अगर घर से बाहर निकलना भी पड़ा तो चेहरे पर मास्क, गमछा या कोई कपड़ा जरूर बांधें।


 


 


 


Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
नोएडा में 12 नए कोरोना पॉजिटिव केस, इनमें 3 साल का बच्‍चा और नर्स भी शामिल
Image
नायब तहसीलदार जेवर ने किया रन्हेरा के गेहूँ क्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण
Image
सरकार की 18 घंटे सप्लाई के दावे का उत्तरदायी कौन
Image
कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए लॉक डाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री एवं तस्करी पर रोक लगाने के उद्देश्य से आबकारी विभाग एवं पुलिस का संयुक्त प्रयास बड़े स्तर पर छापेमारी
Image