मेरठ में पुलिस टीम पर हमला, 4 गिरफ्तार

 


मेरठ,  (वेबवार्ता)। जाली कोठी इलाके में मस्जिद को सील करने गई पुलिस अधिकारियों की टीम पर हमला करने के चलते मस्जिद के इमाम सहित चार व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। यहां कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद पुलिस मस्जिद को सील करने के लिए पहुंची थी।


 


सर्किल अधिकारी दिनेश शुक्ला ने कहा कि आरोपियों ने टीम पर पथराव किया, जिससे एक पुलिस अधिकारी और सिटी मजिस्ट्रेट घायल हो गए। सर्कल अधिकारी ने कहा, 24 फरवरी को महाराष्ट्र से तीन लोग स्थानीय जमात के एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे।


 


वे दरियावाली मस्जिद में ठहरे थे। शुक्रवार को उनका कोरोनोवायरस परीक्षण पॉजिटिव आया है। शनिवार को दिल्ली गेट पुलिस स्टेशन के प्रभारी रविंद्र सिंह और सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र कुमार सिंह पुलिस बल के साथ जाली कोठी इलाके में एक गली को सील करने गए थे। कुछ लोगों ने उनका विरोध करना शुरू कर दिया और पुलिस के खिलाफ नारे लगाए। इसके बाद उन्होंने पुलिस पर पथराव भी किया।


 


सर्कल ऑफिसर ने बताया है कि इस घटना में सिटी मजिस्ट्रेट और थाना प्रभारी को चोटेंआईं हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने लखनऊ में कहा कि गिरफ्तार लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लागू किया जाएगा। एनएसए के तहत यदि अधिकारियों को लगता है कि व्यक्ति राष्ट्रीय सुरक्षा या कानून और व्यवस्था के लिए खतरा है तो वह बिना किसी आरोप के व्यक्ति को 12 महीने तक नजरबंदी में रख सकते हैं।


 


इस बीच, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अन्य पुलिस स्टेशन से अतिरिक्त पुलिस बल को घटनास्थल पर भेजा गया। पुलिस अधीक्षक (शहर) अखिलेश नारायण सिंह ने कहा, इलाके को सील किया जा रहा है। फिलहाल, इलाके में शांति है। मेरठ उत्तर प्रदेश के उन 15 जिलों में से एक है जो कोरोना हॉटस्पॉट की श्रेणी में हैं। यहां के कुछ क्षेत्रों को सील भी कर दिया गया है।


Popular posts
नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन मुरादनगर (नीमा )द्वारा जल्द ही कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने , समाज एवं जनमानस को जागरूक करने के लिए
नोएडा में 12 नए कोरोना पॉजिटिव केस, इनमें 3 साल का बच्‍चा और नर्स भी शामिल
Image
नायब तहसीलदार जेवर ने किया रन्हेरा के गेहूँ क्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण
Image
सरकार की 18 घंटे सप्लाई के दावे का उत्तरदायी कौन
Image
कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए लॉक डाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री एवं तस्करी पर रोक लगाने के उद्देश्य से आबकारी विभाग एवं पुलिस का संयुक्त प्रयास बड़े स्तर पर छापेमारी
Image